CONCOR

एक नवरत्‍न कंपनी
Container Corporation India Ltd.
कंटेनर की बात, कॉनकॉर के साथ
 
कर्मचारी कल्‍याण

कर्मचारी कल्‍याण

कॉनकॉर का मानना है कि किसी भी संगठन के विकास और वृद्धि में संतुष्‍ट कर्मचारी योगदान देते हैं। कॉनकॉर द्वारा अपनाई गई जीवनयापन वेतन अवधारणा कर्मचारी को मानक जीवन हेतु आवश्‍यकताओं की पूर्ति करती है। इसके अतिरिक्‍त, एक समाज विशेष में जीवनयापन के लिए उसकी स्‍थिति के अनुरूप कुछ आवश्‍यक सुविधाओं की पूर्ति करती है।

कॉनकॉर अपने कर्मचारियों को सांविधिक हितलाभों के अतिरिक्‍त विभिन्न तरह के एच्‍छिक हितलाभ भी प्रदान करती है। अब यह कर्मचारियों की ईच्‍छा पर निर्भर करता है कि वह इन हितलाभों की अधिकतम सीमा तक अनुलब्‍धियों एवं भत्‍तों को किस रूप में ले। कॉनकॉर के प्रति वफादारी और कर्मचारी का संतुष्‍टि स्‍तर ऊंचा करने के लिए, कॉनकॉर कैफेटेरिया नजरिए के अंतर्गत भत्‍तों एवं हितलाभों के अतिरिक्‍त दूसरी अनुलब्‍धियों जैसे दूरभाष, प्रतिपूर्ति, यात्रा रियायत भत्‍ता, आवास, टेलीफोन/मोबाईल यंत्र, शादी उपहार, आवास निर्माण हेतु अग्रिम, ब्‍याज मुक्‍त वाहन ऋण, ब्‍याज मुक्‍त कम्‍प्‍यूटर ऋण, बहुउद्देश्‍य ऋण, आवधिक स्‍वास्‍थ्‍य परीक्षण, समूह बीमा योजना अपने कर्मचारियों को देती है।

कॉनकॉर की मानव संसाधन नीतियों का आधार कर्मचारियों की जीवन शैली में गुणवत्‍ता बनाए रखना है और प्रयास करता है कि उन्‍हें वैश्‍विक कॉर्पोरेट के बीच ‘काम करने का सबसे अच्‍छा स्‍थल’ मिले। कॉनकॉर में कार्य संस्‍कृति उच्‍च उत्पादकता वाली कर्मचारी को संतुष्‍टी देने वाली है।

कॉनकॉर ने अपने कर्मचारियों को सुविधाजनक आवास प्रदान करने के लिए विशेषत: दूरदराज के क्षेत्रों में कार्यरत कर्मचारियों के लिए देश के विभिन्‍न भागों में कालोनियों का निर्माण किया है। ये कालोनियां मुख्‍यत: नई दिल्‍ली, दादरी, मुंबई, चैन्नई, बैंगलोर और कोलकाता में स्‍थित हैं।

जो कर्मचारी अपनी इच्‍छित जगह पर अपना स्‍वयं का घर बनाना चाहता है, उसे गृह निर्माण के लिए अग्रिम ऋण सुविधा एक हितकारी उपाय के अंतर्गत दी जाती है।

रियायत सुविधा कर्मचारी को प्रोत्‍साहित करती है कि वह सामान्‍य दैनिक कार्यों से आराम पाने के लिए छुट्टियां लेकर कहीं भी जा सकता है और कर्मचारी अपनी मर्जी से अपने आश्रितों सहित समय समय पर अपने गृह नगर जा सकता है और इसके खर्चों की प्रतिपूर्ति कॉनकॉर करती है।

कर्मचारियों के व्‍यवसायिक ज्ञान के स्‍तर को ऊंचा उठाने और विशेषज्ञता प्राप्‍त करने हेतु कार्यपालक व्‍यावसायिक संस्‍था का सदस्‍य बनने पर कॉनकॉर इन खर्चों की प्रतिपूर्ती भी करता है।

कॉनकॉर को एक परिवार के रूप में जोड़े रखने के उद्देश्‍य से कॉनकॉर महिला कल्‍याण संघ की स्‍थापना सोसाईटी पंजीकरण एक्‍ट, 1860 के अंतर्गत की गई। इस संगठन की यह एक बहुत बडी पहल है कि कर्मचारियों के परिवारों को परस्‍पर जोडा जाए, उनके ज्ञान स्‍तर को बढाया जाए, और वे अपने सामाजिक, आर्थिक बौद्धिक वृद्धि एवं विकास हेतु कार्य करें। यह संगठन विभिन्‍न सामाजिक एवं सांस्‍कृतिक कार्यक्रम यथा त्‍यौहार (स्‍वतंत्रता दिवस, बाल दिवस, दिवाली आदि) स्‍वास्‍थ्‍य जागरूकता कार्यक्रम, सांस्‍कृतिक प्रतिस्‍पर्धाएं व प्रतियोगिताएं और कौशलवर्धक कार्यक्रमों का भी आयोजन करता है। इस संगठन का कॉनकॉर हाउसिंग कॉलोनी, तुगलकाबाद में बच्‍चों के लिए खिलौना केंद्र ओर बाल पुस्‍तकालय भी है।